आयुष मंत्रालय उत्तराखण्ड के सौजन्य से वैलनेस सेन्टर का हुआ शुभारम्भ

 आयुष मंत्रालय उत्तराखण्ड के सौजन्य से वैलनेस सेन्टर   का हुआ शुभारम्भ


   


(फोटो-: उद्घाटन के अवसर पर अल्मोड़ा के जिलाधिकारी)


 सेवा भारत टाइम्स ब्यूरो 


अल्मोड़ा। भारत सरकार के अन्तर्गत आयुष मंत्रालय उत्तराखण्ड के सौजन्य से राजकीय आयुर्वेदिक चिकित्सालय शीतलाखेत में आयुष वैलनेस सेन्टर का आज शुभारम्भ हो गया। इस वैलनेस सेन्टर के अन्तर्गत योग, ध्यान, पंचकर्म व प्राकृृतिक चिकित्सा से रोगों का निदान किया जाएगा। इस वैलनेस चिकित्सा का मुख्य उद्देश्य आयुर्वेद पद्धति से रोगों का निवारण कर व आयुर्वेदिक पद्धति को बढ़ावा दिया जाना है। इसके अलावा योग से किस प्रकार स्वस्थ्य जीवन जी सकते है और यह सिखाया जायेगा कि योग स्वस्थ्य व्यक्ति के लिए अति आवश्यक है। 


आयुष वैलनेस सेन्टर के शुभारम्भ के अवसर पर मुख्य अतिथि जिलाधिकारी नितिन सिंह भदौरिया ने कहा कि स्वस्थ्य जीवन शैली के लिए योग व आयुर्वेद बहुत जरूरी है। वर्तमान में तनावग्रस्त जीवन शैली से छुटकारा पाने के लिए योग आवश्यक है। उन्होंने कहा कि इस वैलनेस सेन्टर के बनने से लोगो को काफी फायदा मिलेगा इसका प्रचार-प्रसार किया जाय। जिलाधिकारी ने कहा कि पर्यटन को भी इस तरह के सेन्टर खुलने से बढ़ावा मिलेगा। शितलाखेत में पर्यटन की काफी सम्भावनायें है इसको ध्यान में रखते हुए यह सेन्टर खोला गया है। इस दौरान उन्होंने चिकित्सालय के रंग-रोगन व जी0आई0सी0 शितलाखेत की छत की मरम्मत का आगणन प्रस्तुत करने के उपरान्त उसे ठीक कराने का आश्वासन दिया। इस अवसर पर जिलाधिकारी ने हर्बल गार्डन का भी निरीक्षण किया।


कार्यक्रम में भाजपा जिलाध्यक्ष गोविन्द सिंह पिलख्वाल ने कहा कि मा0 मुख्यमंत्री की महत्वाकांक्षी योजनाओं में एक आयुष सेन्टर बहुउपयोगी साबित होगा। उन्होने कहा कि ''योग रखे निरोग'' कहावत इसका प्रत्यक्ष उदाहरण है। उन्होंने योग व प्राकृतिक चिकित्सा को अति आवश्यक बताया। इस अवसर पर नगरपालिका अध्यक्ष प्रकाश चन्द्र जोशी ने कहा कि योग व प्राकृतिक चिकित्सा प्रत्येक व्यक्ति के लिए जरूरी है। वर्तमान में योग ने अपनी महत्ता को साबित किया है जो प्रत्येक बीमारी में कारगर साबित हो रहा है।


इस अवसर पर आयुर्वेदिक यूनानी अधिकारी के0एस0 नपलच्याल ने इस वैलनेस सेन्टर में होने वाली सुविधाओं के बारे में बताया। इस अवसर पर तहसीलदार संजय कुमार, नोडल अधिकारी डा0 अजीत तिवारी, बिशन सिंह, डा0 दीपिका धर्मशत्तू, डा0 बी0एस0 रौतेला, डा0 जितेन्द्र कुमार, डा0 एल0एम0 जोशी, डा0 ऋचा चैहान, परियोजना प्रबन्धक आजीविका कैलाश भटट, आपदा प्रबन्धन अधिकारी राकेश जोशी, दिनेश पाठक, घनानन्द पाठक, डा0 हर्ष कुमार, कुबेर अधिकारी, शैलेन्द्र डाबा, गणेश पाठक, ललित चन्द पाठक, कैलाश गोस्वामी आदि उपस्थित थे। कार्यक्रम में जी0आई0सी0 शितलाखेत के बच्चों द्वारा रंगारंग सांस्कृतिक कार्यक्रम प्रस्तुत किये गये।


 


 


Popular posts from this blog

वायु मुद्रा शरीर के अंदर व्याप्त गैस,कब्ज अपच को दूर करता है 

ताजा हरा धनिया तथा अजवाइन केे गर्म पानी से कई हेल्थ प्रॉब्लम्स दूर  l

राष्ट्रीय वन शहीद दिवस मनाया गया