एमडीडीए के नोटिस निरस्त


 





एमडीडीए के गठन से पहले के नोटिस निरस्त कर दिए जाएंगे।



सेवा भारत टाइम्स ब्यूरो 


देहरादून l हाईकोर्ट के आदेश के क्रम में आवासीय नक्शे पर जो व्यापारिक प्रतिष्ठान चल रहे हैं, उन्हें सील करने के लिए एमडीडीए ने शहरभर में करीब एक हजार नोटिस जारी किए हैं। बड़ी संख्या में इस तरह के निर्माण कंपाउंडिंग के भी दायरे में नहीं आ पा रहे। इस बीच राहत ये है कि एमडीडीए के गठन से पहले के नोटिस निरस्त कर दिए जाएंगे। एमडीडीए से राहत की उम्मीद को लेकर दून उद्योग व्यापार मंडल का प्रतिनिधिमंडल एमडीडीए उपाध्यक्ष डॉ. आशीष श्रीवास्तव से मिला। मुलाकात में मंडल अध्यक्ष विपिन नागलिया ने कहा कि एमडीडीए ने जो नोटिस भेजे हैं, उसमें जवाब देने के लिए महज दो-दो दिन का समय दिया जा रहा है। लिहाजा अब कारोबारियों को दीपावली के बाद का समय दिया जाए। 


इस पर उपाध्यक्ष ने कहा कि कारोबारियों को डरने की जरूरत नहीं है और वह वन टाइम सेटेलमेंट स्कीम के तहत अपने निर्माण कंपाउंड करा सकते हैं। इसके लिए फ्रंट सेटबैक व पार्किंग के मानकों में भी ढील दी गई है। हालांकि, व्यापार मंडल ने कहा कि छोटी दुकानें कंपाउंड कराने पर पूरी तरह समाप्त हो जाएंगी। इसके लिए उपाध्यक्ष ने कहा कि ऐसे प्रकरण को वह सरकार व शासन के समक्ष रखेंगे। वहीं, उन्होंने यह भी कहा कि जो व्यक्ति इस तरह का साक्ष्य देंगे कि उनका निर्माण एमडीडीए के गठन (वर्ष 1984) से पूर्व का है तो उनके नोटिस निरस्त कर दिए जाएंगे। इस अवसर पर सुनील मैसोन, के अहमद, मीत अग्रवाल आदि उपस्थित रहे।






Popular posts from this blog

वायु मुद्रा शरीर के अंदर व्याप्त गैस,कब्ज अपच को दूर करता है 

भगत सिंह कालोनी और कारगीग्रान्ट में जमात से लौटे 5 लोगों को कोरोना

शिक्षकों द्वारा सामुदायिक निगरानी का कार्य प्रारम्भ ।