हंसो हँसाओ और स्वस्थ रहो :जरुर पढें

हंसो हँसाओ और स्वस्थ रहो।



रमन भटनागर


कहते है कि तंदरुस्ती हजार नियामत है, हँसने कि कला प्राणिओ में सिर्फ मनुष्यों में ही पाई जाती है... और इसी हँसने का नाम जिंदगी है और यही काम मार्च 2018 से सर्वे ऑफ़ इंडिया हाथी बरकला के ग्रेट आर्क उद्यान में बखूबी किया जा रहा है ।


आसपास के करीब 20 जवान जो अपनी उम्र के पचास साल पुरे कर चुके है आज भी अपने अनवरत ठहाको से पुरे उद्यान को सर पर उठा लेते है सुबह 6 बजे से 8 बजे तक प्रतिदिन हम सब यहाँ एकत्रित होकर एक घंटा बिना किसी बात के भी हंस लेते हैँ. हम सबका ये मानना है कि हंसने के लिए किसी बात या बहाने की आवश्यकता नहीं होती. 
कहावत है कि यारों के दिल खोल कर हंस लोगे तो डॉक्टर को दिल खोलने की जरुरत ही नहीं पड़ेगी. और सिर्फ हँसने ही नहीं अध्यात्म का पाठ भी पढ़ाया जाता हैँ. दोनो हाथो से जोर जोर से ताली बजा कर बिठ्ठल नारायण का कीर्तन 10 मिनट करते हैँ. इस कीर्तन से मन प्रफुल्लित हो जाता है वही ताली बजाने से शरीर की रक्त कोशिकाएं पुनः दुगुनी गति से कार्य आरम्भ कर देती है ।


गायत्री मन्त्र और महामृतुन्जय मन्त्र का जाप और भ्रामरी भी यथाशक्ति करते हैँ. अन्य लोग भी हमारे द्वारा किये जा रहे इस कार्य को सराहते हैँ व सम्मिलित होकर आंनद उठाते हैँ. इसको हमने गुड मॉर्निंग गैंग का एक अलग सा नाम दिया है इसमें समाज के सभी वर्गों के लोग है जो प्रतिदिन आकर इस गैंग में आनंद उठाते हैँ ।


श्री महेश गुप्ता, नवीन नौटियाल, सुदर्शन मल्होत्रा, सुशील चौहान, विनय अग्रवाल, एन के अग्रवाल, गगन खरोला, विनोद खरोला, रमन भटनागर, सूर्यवीर चौहान, ए. पी गुप्ता, अश्विन गोयल, वर्मा जी , गुरु जी, प्रेम जी आदि प्रतिदिन आकर प्रकृति का आंनद लेते हैँ


Popular posts from this blog

"मिलकर लड़ेंगे जंग"

भूकंप के हल्के झटके :जानें

वायु मुद्रा शरीर के अंदर व्याप्त गैस,कब्ज अपच को दूर करता है